उत्तराखण्ड राज्य के प्रमुख जल प्रपात और कुण्ड

राज्य के प्रमुख जल प्रपात

·         सहस्त्रधारा (देहारादून) यह देहरादून से 14 किमी. दूर बाल्दी नदी के पास स्थित है। नाम के अनुरूप यहाँ हजारों झरने है जिसमें से एक झरना गंधक युक्त जल का है। यहाँ स्नान से चर्मरोग ठीक होता है।
·         कैम्पटी फॉल (टिहरी)यह मसूरी से 15 किमी. दूर यमनोत्री मार्ग पर (टिहरी में) है। यह राज्य का सर्वाधिक मनोहर और विशाल जल प्रपात है।
·         टाइगर फॉल (देहरादून) चकराता के पास है।
·         वसुंधरा प्रपात (चमोली)यह माना गाँव से 5 किमी. पश्चिम-उत्तर में अलकनन्दा नदी पर स्थित है। यहाँ 112 मी. की ऊँचाई से जल गिरता है.
·         मुन्स्यारी प्रपात (पिथौरागढ़)यह पिथौरागढ़ से 127 किमी. दूर है। यहाँ एक मुन्स्यारी झील भी है।
·         विरथी प्रपात (पिथौरागढ़)मुन्स्यारी के निकट
·         भट्टा प्रपात (देहरादून)मसूरी के पास
·         हार्डी प्रपात (देहरादून)मसूरी के पास
राज्य के प्रमुख कुण्ड
Ø  प्रमुख ठण्डे कुण्ड
·         सूर्यकुण्ड (गौरी गंगा) – पिथौरागढ़
·         नन्दाकुण्ड (मिलम के पास) – पिथौरागढ़
·         नन्दीकुण्ड – रुद्रप्रयाग
·         नन्दीकुण्ड (मधुगंगा) – चमोली
·         देवीकुण्ड (सुन्दरढूंगा) – बागेश्वर
·         देवकुण्ड (भागीरथी) – उत्तरकाशी
·         ऋषिकुण्ड, बेदिनीकुण्ड, हेमकुण्ड, गौरीकुण्ड, नागकुण्ड व सप्तकुण्ड – चमोली
Ø  प्रमुख गरम कुण्ड
·         सूर्यकुण्ड – यमनोत्री (उत्तरकाशी)
·         तप्तकुण्ड – बद्रीनाथ (चमोली)
·         भापकुण्ड – तपोवन (जोशीमठ, चमोली)
·         गौरीकुण्ड – गौरीकुण्ड (रुद्रप्रयाग)
·         भौरी अमोला कुण्ड – गौरीकुण्ड के पास
·         गंगानी (गंधक युक्त) – उत्तरकाशी

Leave a Comment

error: Content is protected !!