पर्यायवाची शब्द/Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)

पर्यायवाची शब्द/Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)

पर्यायवाची शब्द / Paryayvachi Shabd (Synonyms Words) / Paryayvachi Shabd In Hindi:

Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words) ( Paryayvachi shabd in hindi ) पर्यायवाची शब्दों किसी भी भाषा की सबलता की बहुता को दर्शाता है। जिस भाषा में जितने अधिक पर्यायवाची शब्द / Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words) ( Paryayvachi shabd in hindi )होंगे, वह उतनी ही सबल व सशक्त भाषा होगी। इस दृष्टि से संस्कृत सर्वाधिक सम्पन्न भाषा है। कहा जाता है कि संस्कृत में ‘राजा’ शब्द के एक हजार से भी अधिक पर्यायवाची / Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words) ( Paryayvachi shabd in hindi ) हैं।

इसी प्रकार सारंग’ शब्द के पचास से ऊपर शब्द बन सकते हैं। भाषा में इन शब्दों के प्रयोग से पूर्ण अभिव्यक्ति की क्षमता आती है, साथ ही भाषा में वह आकर्षण और लालित्य आ जाता है जो कि वक्ता और श्रोता, दोनों के लिए ही अनिवार्य है। जिस भाषा में समानार्थक शब्दों का अभाव होगा उसमें अभिव्यक्ति का सौन्दर्य नहीं होगा और न वह पुनरुक्ति दोष से मुक्त हो पाएगी।

पर्याय का अर्थ है-समान। अतः समान अर्थ व्यक्त करने वाले शब्दों को Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words) ( Paryayvachi shabd in hindi ) पर्यायवाची शब्द कहते हैं। इन्हें प्रतिशब्द या समानार्थक शब्द भी कहा जाता है। व्यवहार में पर्याय या पर्यायवाची शब्द / Paryayvachi Shabd  / (Synonyms Words) ही अधिक प्रचलित हैं। अंग्रेजी व्याकरणकार Nesfield ने लिखा है- “A word having the same or nearly the same meaning as another.” अर्थात् वे शब्द जिनसे समान अथवा लगभग समान अर्थ का बोध होता है, पर्यायवाची शब्द / Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words)कहलाते हैं। विद्यार्थियों के अध्ययन के लिए पर्यायवाची शब्द (शब्दों) / Paryayvachi Shabd / (Synonyms Words) / Paryayvachi shabd in hindi की सूची प्रस्तुत है-



अंक – संख्या, गिनती, क्रमांक, निशान, चिह्न, छाप।

अंकमाल – अंकवार, आलिंगन, प्रेमालिंगन।

अंकुर – कोंपल, अँखुवा, कल्ला, नवोभिद्, कलिका, गाभ।

अंकुश – प्रतिबन्ध, रोक, दबाव, रुकावट, नियन्त्रण, अटकाव।

अंग – अवयव, अंश, कला, हिस्सा, भाग, खण्ड, उपांश, घटक, टुकड़ा।

अगाध – अथाह, गम्भीर, गहन, गहरा, असीम, अपार।

अग्नि – आग, अनल, पावक, जातवेद, कृशानु, वैश्वानर, हुताशन, रोहिताश्व, वायुसुख, हव्यवाहन।

अंचल – पल्लू, छोर, क्षेत्र, अंत, प्रदेश, आँचल, किनारा।

अचानक – अकस्मात, अनायास, एकाएक, दैवयोग।

अच्छा – उचित, उपयुक्त, ठीक, सही, बढ़िया, चोखा, बेहतर।

अजनबी – अपरिचित, अनजान, अज्ञात, गैर, नावाकिफ, अनभिज्ञ।

अटल – अडिग, स्थिर, पक्का, दृढ़, अचल, निश्चल।

अठखेली – कौतुक, क्रीड़ा, खेल-कूद, चुलबुलापन, उछल-कूद, हँसी-मजाक।

अमृत – अमिय, पीयूष, अमी, मधु, सोम, सुधा, सुरभोग।

अयोग्य – अनर्ह, योग्यताहीन, नालायक, नाकाबिल।

अर्थ – अभिप्राय, प्रयोजन, आशय, तात्पर्य, मतलब।

अर्जुन – भारत, गुडाकेश, पार्थ, सहस्रार्जुन, धनञ्जय।

अवज्ञा – अनादर, तिरस्कार, अवमानना, अपमान।

अश्व – घोड़ा, तुरंग, हय, बाजि, सैन्धव, घोटक, बछेड़ा।

असुर रजनीचर, निशाचर, दानव, दैत्य, राक्षस, दनुज, यातुधान।

अड़ेगा – रुकावट, विघ्न, अवरोध, व्यवधान।

अतिथि – मेहमान, पहुना, अभ्यागत, रिश्तेदार, नातेदार, आगन्तुका।

अतीत – पूर्वकाल, भूतकाल, विगत, गत।

अनी – कटक, दल, सेना, फौज, चमू, अनिकिनी।

अनाज – अन्न, शस्य, धान्य, गल्ला, खाद्यान्न।

अनाड़ी – अनजान, अनभिज्ञ, अज्ञानी, अकुशल, अदक्ष, अपटु, मूर्ख, अल्पज्ञ, नौसिखिया।

अनार – सुनील, वल्कफल, मणिबीज, बीदाना, दाड़िम, रामबीज, शुकप्रिय।

अनिष्ट – बुरा, अपकार, अहित, नुकसान, हानि, अमंगल।

अनुकम्पा – दया, कृपा, मेहरबानी।

अनुमान – अन्दाज, अटकल, कयास।

अनुरक्त – मग्न, व्यस्त, तल्लीन, आसक्त।

अनुपम – सुन्दर, अतुल, अपूर्व, अद्वितीय, अनोखा, अप्रतिम, अद्भुत, अनूठा।

अनुसरण – नकल, अनुकृत, अनुगमन।

अपमान – अनादर, उपेक्षा, निरादर, बेइज्जती।

अप्सरा – परी, देवकन्या, अरुणप्रिया, सुखवनिता, देवांगना, दिव्यांगना।

अभय – निडर, साहसी, निर्भीक, निर्भय, निश्चिन्त।

अभागा – बदनसीब, भाग्यहीन, बदकिस्मत, कर्महीन।

अभाव – कमी, तंगी, न्यूनता, अपूर्ति।

अभिजात – कुलीन, सुजात, खानदानी।

अभिप्राय – प्रयोजन, आशय, तात्पर्य, मतलब, अर्थ, मंतव्य, विचार।

अभिज्ञ – जानकार, विज्ञ, परिचित, ज्ञाता।।

अभिमान – गौरव, गर्व, नाज, घमंड, दर्प, स्वाभिमान।

अभियोग – दोषारोपण, कसूर, अपराध, गलती।

अभिलाषा – कामना, मनोरथ, इच्छा, आकांक्षा, ईहा, ईप्सा, चाह, लालसा, मनोकामना।

अभिवादन – नमस्ते, नमस्कार, प्रणाम, दण्डवत, राम-राम।

अभ्यास – रियाज, पुनरावृत्ति, दोहराना, मश्क।

अमर – मृत्युंजय, अविनाशी, अनश्वर, अक्षर, अक्षय।

अमीर – धनी, धनाढ्य, सम्पन्न, धनवान, पैसेवाला।

अशोक – ताम्रपल्लव, हेमपुष्पक, कर्णपूरक, पिण्डपुष्पक, रक्तपल्लव, अंगनाप्रिय।

अनन्त – असंख्य, अपरिमित, अगणित, बेशुमार।

अज्ञानी – अनभिज्ञ, अनजान, मूर्ख, मूढ, अबोध, नासमझा।

अगुआ – अग्रणी, सरदार, मुखिया, प्रधान, नायक।

अधर – रदन, छद, रदपुट, होंठ, ओष्ठ।

अध्यापक – आचार्य, शिक्षक, गुरु, व्याख्याता, अवबोधक, अनुदेशक।

अंधकार – तम, तिमिर, ध्वान्त, अंधियारा।

अनल – धूमकेतु, पावक, कृशानु, हुताशन, अग्नि, आग।

अघाना – छकना, तृप्त होना, सन्तुष्ट होना, पेट भरना।

अनुरूप – अनुकूल, संगत, अनुसार, मुआफिका।

अपकार – अनिष्ट, अमंगल, अहित, अनहित।

आतुर – बेचैन, अधीर, उद्विग्न, आकुल।

अनोखा – विलक्षण, अद्भुत, अनूठा, विचित्र।

अन्तःपुर – रनिवास, भोगपुर, जनानखाना हरम।

अदृश्य – अन्तर्धान, तिरोहित, ओझल, लुप्त।

अकाल – भुखमरी, कुकाल, दुष्काल, दुर्भिक्षा।

अशुद्ध – दूषित, गंदा, अपवित्र, अशुचि।

असभ्य – अभद्र, अविनीत, अशिष्ट, गॅवार, उजड्ड, अशिष्ट, गँवार, जंगली, देहाती, निरंकुश, उद्दंड।

अभिप्राय – आशय, तात्पर्य, उद्देश्य, मंशा।

अनुपम – अतुल, अपूर्व, अप्रतिम, निरूपम, अद्वितीय, बेजोड़।

अधम – नीच, निकृष्ट, पतित।

अवज्ञा – तिरस्कार, अवहेलना, अवमान, तौहीन।

अतीत – विगत, व्यतीत, गत, गुजरा हुआ, बीता हुआ।

अनिश्चित – भ्रामक, संदिग्ध, अनिर्णीत।

अपकीर्ति – अपयश, बेदनामी, निंदा, अकीर्ति।

अध्ययन  – अनुशीलन, पारायण, पठनपाठन, पढ़ना।

अनुरोध – अभ्यर्थना, प्रार्थना, विनती, याचना, निवेदन।

अखण्ड – पूर्ण, समस्त, सम्पूर्ण, अविभक्त, समूचा, पूरा।

अपराधी – मुजरिम, दोषी, कसूरवार, सदोष।

अधीन – आश्रित, मातहत, निर्भर, पराश्रित, पराधीन।

अनुचित – नाजायज, गैरवाजिब, बेजा, अनुपयुक्त, अयुत।

अन्वेषण – अनुसन्धान, गवेषण, खोज, जाँच।

अनबन – विवाद, झगड़ा, तकरार, बखेड़ा।

अमूल्य – अनमोल, बहुमूल्य, मूल्यवान, बेशकीमती।

अवनति – अपकर्ष, गिराव, गिरावट, घटाव, ह्रास।

अश्लीलअभद्र, अधिभ्रष्ट, निर्लज्ज बेशर्म, असभ्य।



आकुल – व्यग्र, बेचैन, क्षुब्ध, बेकल।

आक्षेप – अभियोग, आरोप, दोषारोपण, इल्जाम।

आकृति – आकार, चेहरा-मोहरा, नैन-नक्श, डील-डौल।

आदर्श – प्रतिरूप, प्रतिमान, स्टैन्डर्ड, मानक।

आलसी – निठल्ला, बैठा-ठाला, ठलुआ, सुस्त, निकम्मा, काहिल।

आयुष्मान – चिरायु, दीर्घायु, शतायु, दीर्घजीवी।

आज्ञा – आदेश, निदेश, फरमान, हुक्म।

आश्रय – सहारा, आधार, भरोसा, अवलम्ब, प्रश्रय।

आख्यान – कहानी, वृत्तांत, कथा, किस्सा।

आधुनिक – अर्वाचीन, नूतन, नव्य, वर्तमानकालीन, नवीन, अधुनातन।

आवेग – तेजी, स्फूर्ति, जोश, त्वरा, तीव्र, फुर्ती, चपलता।

आलोचना समीक्षा, टीका, टिप्पणी, नुक्ताचीनी, समालोचना।

आरम्भ – श्रीगणेश, शुरूआत, सूत्रपात, उपक्रम।

आवश्यक – अनिवार्य, अपरिहार्य, जरूरी, बाध्यकारी।

आदि – पहला, प्रथम, आरम्भिक, आदिम।

आचरण – व्यवहार, बरताव, सदाचार, शिष्टाचार।

आपत्ति – विपदा, मुसीबत, आपदा, विपत्ति।

आफत – आपद, आपदा, आपत्ति, कष्ट, आपत्, विपत्ति, संकट, मुसीबत, बला, विपदा, तकलीफ़, दुःख, परेशानी, उपद्रव

अरण्य – जंगल, कान्तार, विपिन, वन, कानन।

आकाश – नभ, अम्बर, अन्तरिक्ष, आसमान, व्योम, गगन, दिव, द्यौ, पुष्कर, शून्य।

आचरण – चाल-चलन, चरित्र, व्यवहार, आदत, बर्ताव।

आडम्बर – पाखण्ड, ढकोसला, ढोंग, प्रपंच, दिखावा।

आँख – अक्षि, नयन, नेत्र, लोचन, दृग, चक्षु।

आँगन – प्रांगण, बगड़, बाखर, अजिर, अँगना, सहन।

आम – रसाल, आम्र, फलराज, पिकबन्धु, सहकार, अमृतफल।

आश्रम – मठ, विहार, कुटी, आखाडा, संघ।

आनन्द – आमोद, प्रमोद, विनोद, उल्लास, प्रसन्नता, सुख, हर्ष।

आराम – विश्राम, चैन, राहत, विश्रान्ति, शान्ति।

आशा – उम्मीद, तवक्को, आस।

आशीर्वाद – आशीष, दुआ, शुभाशीष, शुभकामना।

आश्चर्य – अचम्भा, अचरज, विस्मय, ताज्जुब।

आहार – भोजन, खुराक, खाना, भक्ष्य, भोज्य।

आस्था – विश्वास, श्रद्धा, मान, ‘कदर, महत्त्व, आदर।



इन्दिरा – लक्ष्मी, रमा, श्री, कमला।

इच्छा – लालसा, कामना, चाह, मनोरथ, ईहा, ईप्सा, आकांक्षा, अभिलाषा, मनोकामना।

इन्द्र – महेन्द्र, सुरेन्द्र, सुरेश, पुरन्दर, देवराज, मधवा, पाकरिपु, पाकशासन, पुरहूत।

इन्द्राणी – शची, इन्द्रवधू, महेन्द्री, इन्द्रा, पौलोमी, शतावरी, पुलोमजा।

इन्कार – अस्वीकृति, निषेध, प्रत्याख्यान।

इच्छुक अमिलाषी, लालायित, उत्कण्ठित, आतुर।

इशारा – संकेत, इंगित, निर्देश।

इन्द्रधनुष – सुरचाप, इन्द्रधनु, शक्रचाप, सप्तवर्णधनु।



ईख – गन्ना, ऊख, रसडंड, रसाल, पेंड़ी, रसद।

ईमानदार – सच्चा, निष्कपट, सत्यनिष्ठ, सत्यपरायण।

ईश्वर – परमात्मा, परमेश्वर, ईश, ओम, ब्रह्म, अलख, अनादि, अज, अगोचर, जगदीश।

ईर्ष्या – मत्सर, डाह, जलन, कुढ़ना



उचित – ठीक, सम्यक्, सही, उपयुक्त।

उच्छृंखल – उद्दंड, अक्खड़, आवारा, अंडबंड, नरिंकुश, मनमर्जी, स्वेच्छाचारी।

उक्ति – कथन, वचन, सूक्ति।

उत्कर्ष – उन्नति, उत्थान, अभ्युदय, उन्मेष।

उत्पत्ति – पैदाइश, उद्भव, जन्म।

उत्पात – दंगा, उपद्रव, फसाद, हड़दंग, गड़बड़।

उत्सव – समारोह, आयोजन, पर्व, त्योहार।

उत्साह – जोश, उमंग, हौसला, उत्तेजना।

उत्सुक – आतुर, उत्कण्ठित, व्यग्र, उत्कर्ण, रुचि, रुझान।

उदार – सदय, उदात्त, सहृदय।

उदास – उन्मन, विमनस्क, खिन्न।

उदाहरण – मिसाल, नमूना, दृष्टान्त।

उद्देश्य – प्रयोजन, ध्येय, लक्ष्य।

उद्यत – तैयार, प्रस्तुत, तत्पर।

उन्मूलन – निरसन, अन्त, उत्सादन।

उपकार – परोपकार, अच्छाई, भलाई, नेकी, हित, उद्धार, कल्याण।

उपस्थित – विद्यमान, हाजिर, प्रस्तुत।

उत्कृष्ट – उत्तम, श्रेष्ठ, प्रकृष्ट, प्रवर।

उत्थान – उत्कर्ष, उठान, उत्क्रमण, चढ़ाव, आरोह।

उल्लास – हर्ष, आनन्द, प्रमोद, आह्लाद।

उपमा – तुलना, मिलान, सादृश्य, समानता।

उपासना – पूजा, आराधना, अर्चना, सेवा।

उदासीन – विरक्त, निर्लिप्त, अनासक्त, वीतराग।

उद्यम – परिश्रम, पुरुषार्थ, श्रम, मेहनत।

उजाला – प्रकाश, आलोक, प्रभा, ज्योति।

उद्धार – मुक्ति, निस्तार, अपमोचन, छुटकारा।

उलझन – असमंजस, दुविधा, अनिश्चय, संभ्रम।

उपाय – युक्ति, ढंग, तरकीब, तरीका।

उपयुक्त – उचित, ठीक, वाजिब, मुनासिब, वाँछनीय।

उपेक्षा – उदासीनता, विरक्ति, अनासक्ति, विराग।

उल्टा – प्रतिकूल, विलोम, विपरीत, विरुद्ध।

उजाड़ – निर्जन, वीरान, सुनसान, बियावान्।

उग्र – तेज, प्रबल, प्रचण्ड।

उपहार भेंट, सौगात, तोहफा।

उपालम्भ – उलाहना, शिकवा, शिकायत।

उल्लंघन – तिरस्कार, उपेक्षा, अवज्ञा।

उल्लू उलूक, लक्ष्मीवाहन, कौशिक।



ऊँचा – उच्च, शीर्षस्थ, उन्नत, उत्तुंग।

ऊर्जा – ओज, स्फूर्ति, शक्ति।

ऊसर – अनुर्वर, सस्यहीन, अनुपजाऊ, रेत, रेह।

ऊष्मा – उष्णता, तपन, ताप, गर्मी।



ऋषि – मुनि, मनीषी, महात्मा, साधु, सन्त।

ऋद्धि बढ़ती, बढ़ोतरी, वृद्धि, सम्पन्नता, समृद्धि



एकता – एका, सहमति, एकत्व।

एहसान – आभार, कृतज्ञता, अनुग्रह।



ऐश – विलास, ऐयाशी, सुख-चैन।

ऐश्वर्य – वैभव, प्रभुता, सम्पन्नता, समृद्धि।

ऐच्छिक – स्वेच्छाकृत, वैकल्पिक, अख्तियारी।



दम, जोर, पराक्रम, बल, शक्ति, ताकत।

ओझल – अंतर्धान, तिरोहित, अदृश्य।



और – (i) अन्य, दूसरा, इतर, भिन्न (ii) अधिक, ज्यादा (ii) एवं, तथा।

औषधि – दवा, दवाई, भेषज।



कंजूस सूम, अनुदार, कृपण, मक्खीचूस।

कपड़ा चीर, वस्त्र, वसन, अम्बर, पट, चैल, दुकूल

कपाट पट, किवाड़, द्वार, दरवाजा।

कमल सरोज, सरोरुह, जलज, पंकज, नीरज, वारिज, अम्बुज, अम्बोज, अब्ज, सतदल, अरविन्द, कुवलय, अम्भोरूह।

कर्ण अंगराज, सूर्यसुत, अर्कनन्दन, राधेय, सूतपुत्र, रविसुत, आदित्यनन्दन।

कलीमुकुल, जालक, ताम्रपल्लव, कलिका, कुडमल, कारक नवपल्लव, अँखुवा, कोंपल।

कल्पवृक्ष कल्पतरु, कल्पशाल, कल्पद्रुम, कल्पपादप, कल्पविटप।

कन्या कुमारिका, बालिका, किशोरी, बाला।

कठिन दुर्बोध, जटिल, दुरूह।

कंगाल निर्धन, गरीब, अकिंचन, दरिद्र।

कंचन सोना, स्वर्ण, सुवर्ण, सोना, हेम।

कृतार्थ उपकृत, आभारी, धन्य, अहसानमंद।

कमजोर दुर्बल, निर्बल, अशक्त, क्षीण।

कामना अभिलाषा, आकांक्षा, मनोरथ, चाह।

कुटिल छली, कपटी, धोखेबाज, चालबाज

कृपा अनुकम्पा, अनुग्रह, दया, मेहरबानी।

कामुकता व्यभिचारिता, भोगासक्ति, विषयासक्ति, इंद्रियलोलुपता।

काक काग, काण, वायस, पिशुन, करठ, कौआ।

कुत्ता कुक्कर, श्वान, शुनक, कूकुर।

कबूतर कपोत, रक्तलोचन, हारीत, पारावत।

कृत्रिम अवास्तविक, नकली, झूठा, दिखावटी, बनावटी।

कल्याण मंगल, योगक्षेम, शुभ, हित, भलाई, उपकार।

कठोर कड़ा, कर्कश, पुरुष, निष्ठुर।

कल – सुन्दर , अगला दिन , मशीन , आराम , श्रेष्ठ। कपड़ा – चीर , ,पट , वसन , अम्बर , वस्त्र।

कलह विवाद, झगड़ा, बखेड़ा।

कूल किनारा, तट, तीर।

कृषक किसान, काश्तकार, हलधर, जोतकार, खेतिहर।

क्लिष्ट दुरूह, संकुल, कठिन, दुःसाध्य।

कायर बुजदिल, भीरू, डरपोक, कातर।

कौशल कला, हुनर, फन, योग्यता, कुशलता।

कर्म कार्य, कृत्य, क्रिया, काम, काज।

कलिका – कली, मुकुल, पंखुड़ी, कोरक।

कड़वा – कटु, तीखा, तीक्ष्ण, तेज।

कस्तुरी – मृगमद, मृगनाभि, मदलता।

कंदरा – गुहा, गुफा, खोह, दरी।

कथन – विचार, वक्तव्य, मत, बयान।

कटाक्ष – आक्षेप, व्यंग्य, ताना, छींटाकशी।

कुरूप – भद्दा, बेडौल, बदसूरत, असुन्दर।

कलंक – दोष, दाग, धब्बा, लांछन, कलुषता।

केवट – मांझी, नाविक, मल्लाह, धीवर।

कोमल – मृदुल, सुकुमार, नाजुक, नरम, मुलायम।

किरण – रश्मि, केतु, अंशु, मरीचि, अंश, कर, मयूख, पुंज।

कुशल – दक्ष, प्रवीण, निपुण, चतुर।

कसक – पीड़ा, दर्द, टीस, दुःख

कोयल – कोकिल, श्यामा, पिक, मदनशलाका।

काल्पनिक – अयथार्थ, मनगढंत, कल्पित।

कायरता – भीरुता, अपौरुष, पामरता, साहसहीनता।

कंटक – काँटा, शूल, खार।

कामदेव – मनोज, कन्दर्प, आत्मभू, अनंग, अतनु, काम, मकरकेतु, पुष्पचाप, स्मर, मन्मथ।

कार्तिकेय – कुमार, पार्वतीनन्दन, शरभव, स्कन्ध, षडानन, गुह, मयूरवाहन, शिवसुत, षड्वदन।

किला – दुर्ग, कोट, गढ़, शिविर।

किंचित –(i) कतिपय, कुछ एक, कई एक (ii) कुछ, अल्प, जरा।

किन्तु – लेकिन, परन्तु, मगर, क्योंकि, पर।

किताब – पुस्तक, ग्रंथ, पोथी।

किनारा –(i) तट, मुहाना, तीर, पुलिन, कूल। (ii) अंचल, छोर, सिरा, पर्यन्त।

कीमत – मूल्य, दाम, लागत।

कुबेर – राजराज, किन्नरेश, धनाधिप, धनेश, यक्षराज, धनद।

कुमुदनी – नलिनी, कैरव, कुमुद, इन्दुकमल, चन्द्रप्रिया।

कृष्ण – नन्दनन्दन, मधुसूदन, जनार्दन, माधव, मुरारि, कन्हैया, द्वारकाधीश, गोपाल, केशव, नन्दकुमार, नन्दकिशोर, बिहारी।

कृतज्ञ – आभारी, उपकृत, अनुगृहीत, ऋणी, कृतार्थ।

केला – रम्भा, कदली, वारण, अशुमत्फला, भानुफल, काष्ठीला।

क्रोध – गुस्सा, अमर्ष, रोष, कोप, आक्रोश, ताव।

करुणा – दया, तरस, रहम, आत्मीयभावा।

कहानी – दास्तान, गाथा, किस्सा, आख्यायिका।

कायर – डरपोक, बुजदिल, भीरु।



खग – पक्षी, चिड़िया, पखेरू, द्विज, पंछी, विहंग, शकुनि।

खंजन – नीलकण्ठ, सारंग, कलकण्ठ।

खबर – जानकारी, सूचना, समाचार, सन्देश।

खल – शठ, दुष्ट, धूर्त, दुर्जन, कुटिल, नालायक, अधम।

खुला – स्पष्ट, प्रत्यक्ष, जाहिर।

खुशी – उल्लास, आनन्द, हर्ष, प्रसन्नता।

खूबसूरत – सुन्दर, सुरम्य, मनोज्ञ, रूपवान।

खोज – अन्वेषण, आविष्कार, शोध, अनुसन्धान।

खून – रुधिर, लहू, रक्त, शोणित।

खिड़की – जंगला, झरोखा, गवाक्ष, वातायन, अन्तद्वार, झज्झर |

खम्भा – खम्भ, स्तूप, स्तम्भ।

खतरा – अंदेशा, भय, डर, आशंका।

खत – चिट्ठी, पत्र, पत्री, पाती।

खरा – शुद्ध, निर्मल, स्वच्छ, साफ।

खामोश – नीरव, शान्त, चुप, मौन।

खोटा – अशुद्ध, झूठा, नकली, कृत्रिम।

खराबी – दोष, बुराई, अवगुण, विकार।

खीझ – झुंझलाहट, झल्लाहट, खीझना, चिढ़ना।



गरुड खगेश्वर, सुपर्ण, वैतनेय, नागान्तक।

गर्व – घमण्ड, दर्प, अकड़, दम्भ, अभिमान।

गौरव – मान, सम्मान, महत्त्व, बड़प्पन।

गम्भीर – गहरा, अथाह, अतल।

गीदड़ – श्रृंगाल, सियार, जम्बुक।

गुप्त – निभृत, अप्रकट, गूढ़, अज्ञात, परोक्ष।

गति – चाल, रफ्तार।

गति – हाल, दशा, अवस्था, स्थिति।

गुस्सा – अमर्ष, क्रोध, रोष, क्षोभ, कोप।

गंगा – भागीरथी, देवसरिता, मंदाकिनी, विष्णुपदी, त्रिपथगा, देवापगा, सुरसरि, पापछालिका।

गणेश – लम्बोदर, मूषकवाहन, भवानीनन्दन, विनायक, गजानन, मोदकप्रिय, जगवन्द्य, हेरम्ब।

गज – हस्ती, सिंधुर, मातंग, कुम्भी, नाग, हाथी, वितुण्ड, कुंजर, करी, द्विप।

गधा गदहा, खर, धूसर, गर्दभ, चक्रीवाहन, रासभ, लम्बकर्ण, बैशाखनन्दन।

गाय – धेनु, सुरभि, माता, कल्याणी, पयस्विनी, गौ।

गलना – द्रवीभूत होना, द्रवित होना, पिघलना, नष्ट होना।

गहन – अगाह, अथाह, अगाध, गहरा।

गुलाब – सुमना, शतपत्र, स्थलकमल, पाटल, वृन्तपुष्प।

गुंडा – लोफर, शरारती, नंगा, बदमाश, लफंगा, उदंड।

गुनाह – गलती, अधर्म, पाप, अपराध, खता, त्रुटि, कुकर्म।

गोदाम – मालखाना, भण्डार, कोठा, गोडाउन।



घट – कलश, घड़ा, कुम्भ, गागर, निप, गगरी, कुट।

घर – महल, सदन, निकेतन, भवन, गृह, गेह, ओक, हवेली, सदन, लाज, निवास, कुटी, मकान, आवास, आलय।

घूस – चाँदी का जूता, उपदानक, रिश्वत, उत्कोच।

घी – घृत, हवि, अमृत।

घाटा – हानि, नुकसान, टोटा।

घन – जलधर, वारिद, अंबुधर, बादल, नीरद।

घृणा – जुगुप्सा, अरुचि, घिन, वीभत्स।



चंदन – मंगल्य, मलयज, श्रीखण्ड।

चाँदी – रजत, रूपा, रौप्य, रूपक।

चपलता – चंचलता, अधीरता चुलबुलापन।

चरित्र – आचार, सदाचार, शील, आचरण।

चेतना – होश, एहसास, ज्ञान, सुधबुध।

चिंता – फिक्र, सोच, ऊहापोह।

चौकीदार – आरक्षी, पहरेदार, प्रहरी, गारद, गश्तकार।

चोटी – शृंग, तुंग, शिखर, परकोटि।

चिक्कन चिकना, मस्रण, स्निग्ध, स्नेहिल।

चक्र – पहिया, चाक, चक्का।

चमक कान्ति, आभा, द्युति, दीप्ति

चिकित्सा – उपचार, इलाज, दवादारू।

चतुर – कुशल, नागर, प्रवीण, दक्ष, निपुण, योग्य, होशियार, चा सयाना, विज्ञ।

चन्द्र – सोम, राकेश, रजनीश, राकापति, चाँद, निशाकर, हिमांशु, मयंक, सुधांशु, मृगांक, चन्द्रमा, कला-निधि, ओषधीश।

चाँदनी – चन्द्रिका, ज्योत्स्ना, कौमुदी, कुमुदकला, जुन्हाई, अमृतवर्ष चन्द्रातप, चन्द्रमरीचि।

चपला – विद्युत्, बिजली, चंचला, दामिनी, तड़ित।

चश्मा – ऐनक, उपनेत्र, सहनेत्र, उपनयन।

चाटुकारी – खुशामद, चापलूसी, मिथ्या प्रशंसा, चिरौरी, चमचागिरी।

चिह्न – प्रतीक, निशान, लक्षण, पहचान, संकेत।

चोर – रजनीचर, दस्यु, साहसिक, कभिज, खनक, मोषक, तस्कर।



छात्र – विद्यार्थी, शिक्षार्थी, शिष्य।

छाया – साया, प्रतिबिम्ब, परछाई, छाँव।

छल – प्रपंच, झाँसा, फरेब, कपट।

छटा – आभा, कांति, चमक, सौन्दर्य, सुन्दरता।

छानबीन – जाँच-पड़ताल, पूछताछ, जाँच, तहकीकात।

छेद – छिद्र, सूराख, रंध्र।

छली – ठग, छद्मी, कपटी, कैतव, धूर्त, मायावी।

छलांग – उछाल, फांद, चौकड़ी, उछलकूद।

छाती – उर, वक्ष, वक्षःस्थल, सीना।



जुगनू – प्रभाकीट, खद्योत, पटबीजना।

जननी – माँ, माता, माई, मइया, अम्बा, अम्मा।

जटिल – दुर्बोध, दुरूह, पेचीदा, क्लिष्ट।

जवान – युवा, युवक, किशोर, तरुण।

जीविका – आजीविका, वृत्ति, रोटी, रोजी।

जिद्दी – हठी, दुराग्रही, हठीला, दुर्दान्त।

जोश – आवेश, उफान, उबाल।

जीव – प्राणी, देहधारी, जीवधारी।

जानकारी – ज्ञान, बोध, विज्ञता।

जिज्ञासा – उत्सुकता, उत्कंठा, कुतूहल।

ज्योतिषी – दैवज्ञ, गणक, भविष्यवक्ता।

जंग – युद्ध, रण, समर, लड़ाई, संग्राम।

जगदुनिया, संसार, विश्व, भुवन, मृत्युलोक।

जल – सलिल, उदक, तोय, अम्बु, पानी, नीर, वारि, पय, अमृत, | जीवक, रस, अप।

जहाज – जलयान, वायुयान, विमान, पोत, जलवाहन।

जानकी – जनकसुता, वैदेही, मैथिली, सीता, रामप्रिया, जनकदुलारी, जनकनन्दिनी।।

जुटाना – बटोरना, संग्रह करना, जुगाड़ करना, एकत्र करना, जमा करना, संचय करना।

जोश – आवेश, साहस, उत्साह, उमंग, हौसला।



झंडा – ध्वजा, केतु, पताका, निसान।

झरना सोता, स्रोत, उत्स, निर्झर, जलप्रपात।

झेप – सकुचाहट, संकोच, तकल्लुफ, खिसी, हया।

झगड़ा – कलह, टंटा, तकरार, वितंडा।

झोपड़ी – कुटी, कुटिया, पर्णकुटी, कुंज।

झुंड – जत्था, समूह, मंडली, पुंज।

झुकाव – रुझान, प्रवृत्ति, प्रवणता, उन्मुखता।



टीका – भाष्य, वृत्ति, विवृति, व्याख्या।

टक्कर – भिडंत, संघट्ट, समाघात, ठोकर।

टोल – समूह, मण्डली, जत्था, झुण्ड, चटसाल, पाठशाला।

टीस – साल, कसक, शूल, शूक्त, चसक, दर्द, पीड़ा।

टेढ़ा – (i) बंक, कुटिल, तिरछा, वक्र (ii) कठिन, पेचीदा, मुश्किल, दुर्गम



ठंड – शीत, ठिठुरन, सर्दी, जाड़ा, ठंडक।

ठेस – आघात, चोट, ठोकर, धक्का।

ठौर – ठिकाना, स्थल, जगह।

ठग – जालसाज, प्रवंचक, वंचक, प्रतारका

ठाठ आडम्बर, सजावट, वैभव।



डगर – बाट, मार्ग, राह, रास्ता, पथ, पंथ।

डर – त्रास, भीति, दहशत, आतंक, भय, खौफ।

डेरा – पड़ाव, खेमा, शिविर।

डोर – डोरी, रज्जु, तांत, रस्सी, पगहा, तन्तु।

डकैत – डाकू, लुटेरा, बटमार।

डाह – ईष्र्या, कुढ़न, जलन।



ढीठ – धृष्ट, प्रगल्भ, अविनीत, गुस्ताख।

ढोंग – स्वाँग, पाखण्ड, कपट, छल।

ढंग – पद्धति, विधि, तरीका, रीति, प्रणाली, करीना।

ढेर – राशि, समूह, अम्बार, घौद, झुण्ड।



तन – शरीर, काया, जिस्म, देह, वपु।

तपस्या – साधना, तप, योग, अनुष्ठान।

तरंग – हिलोर, लहर, ऊर्मि, मौज, वीचि।

तरकश – तूण, तूणीर, माथा, त्रोण, निषंग।

तरु – वृक्ष, पेड़, विटप, पादप, द्रुम।

तलवार – असि, खडग, सिरोही, चन्द्रहास, कृपाण, शमशीर, करवाल, करौली।

स्वीर चित्र, फोटो, प्रतिबिम्ब, प्रतिकृति, आकृति।

तालाब जलाशय, सरोवर, ताल, सर, तड़ाग, जलधर, सरसी, पद्माकर, पुष्कर।

तारीख – दिनांक, मिती, तिथि।

तारीफ – बड़ाई, प्रशंसा, सराहना, प्रशस्ति, गुणगान।

तीर – नाराच, बाण, शिलीमुख, शर, सायक।

तुरन्त – तत्काल, तत्क्षण, सत्वर, अविलम्ब, जल्दी।

तोता – सुवा, शुक, दाडिमप्रिय, कीर, सुग्गा, रक्ततुंड।

ताकना – अवलोकन, देखना, निहारना, झांकना, निरखना।

तत्पर – तैयार, कटिबद्ध, उद्यत, सन्नद्ध।

तन्मय – मग्न, तल्लीन, लीन, ध्यानमग्न।

तालमेल – समन्वय, संगति, सामंजस्य।

तोष – जस्या तृप्ति, संतोष, तुष्टि।

तिरस्कार – अपमान, निरादर, उपेक्षा, अवमानना।

तकलीफ – रोग, अस्वस्थता, रुग्णता।

तरकारी – शाक, सब्जी, भाजी।

तुफान – झंझावात, अंधड़, आँधी, प्रभंजन।

तादात्म्य – तद्रूपता, अभिन्नता, सारूप्य, एकात्म्य।

त्रुटि – अशुद्धि, भूल-चूक, गलती।



थकान – क्लान्ति, श्रान्ति, थकावट, थकन।

थोड़ा – कम, जरा, अल्प, स्वल्प, न्यून।

थाह – अन्त, छोर, सिरा, सीना।



दर्पण शीशा, आइना, मुकुर, आरसी।

दया तरस, करुणा, रहम, अनुकम्पा।

दासचाकर, नौकर, सेवक, परिचारक, परिचर, किंकर, अनुचर।

दुःखक्लेश, खेद, पीड़ा, यातना, विषाद, यन्त्रणा, क्षोभ, कष्ट।

दूध पय, दुग्ध, स्तन्य, धीर, अमृत।

देवतासुर, आदित्य, अमर, देव, वसु।

दोस्त सखा, मित्र, स्नेही, अन्तरंग, हितैषी, सहचर।

द्रोपदी श्यामा, पाँचाली, कृष्णा, सैरन्ध्री, याज्ञसेनी, द्रुपदसुता, नित्ययौवना।

दौलत सम्पत्ति, सम्पदा, धन, द्रव्य, विभूति, वित्त।

दासी बाँदी, सेविका, किंकरी, परिचारिका।

दैत्य असुर, सुरारि, दनुज, रजनीचर।

दीपक आदित्य, दीप, प्रदीप, दीया।

दुर्गासिंहवाहिनी, कालिका, अजा, भवानी, चण्डिका, कल्याणी, सुभद्रा, चामुण्डा।

दुष्ट नीच, खल, दुर्जन, पिशुन।

दमन – अवरोध, निग्रह, रोक, नियन्त्रण, वश, अटकाव।

दीर्घ विशाल, बड़ा, विस्तृत।

दिव्य अलौकिक, स्वर्गिक, लोकातीत, लोकोत्तर।

दुर्लभ – अलम्भ, नायाब, विरल, दुष्प्राप्य।

दिलेर – साहसी, शूर, वीर, बहादुर।

दशा – अवस्था, रिंथति, हालत।

दर्शन – भेट, साक्षात्कार, मुलाकात।

दंगा – उपद्रव, फसाद, उत्पात, ऊधम।

द्वेष – बैर, शत्रुता, दुश्मनी, खार।

दरवाजा – किवाड़, पल्ला, कपाट, द्वार।

दाई – धाया, धात्री, अम्मा, सेविका।

देवालय – देवमन्दिर, देवस्थान, मन्दिर।

दृढ़ – पुष्ट, मजबूत, पक्का, तगड़ा।

दुर्गम – अगम्य, विकट, कठिन, दुस्तर, विषम।



धनुष – चाप, धनु, शरासन, पिनाक, कोदण्ड, कमान, विशिखासन।

धीरज – धीरता, धीरत्व, धैर्य, धारण, धृति।

धरती – धरा, धरणी, पृथ्वी, क्षिति, वसुधा, अवनी, मेदिनी।

धनी – धनवान, धनाढ्य, दौलतमंद, मालदार, धन्नासेठ।

धन्यवाद – कृतज्ञता, शुक्रिया, आभार, मेहरबानी।

धवल – श्वेत, सफेद, उजला।

धुंध – कुहरा, नीहार, कुहासा।

ध्वस्त – नष्ट, भ्रष्ट, भग्न, खण्डित।

धूल – रज, खेहट, मिट्टी, गर्द, धूलि।

ध्रुव – दृढ़, अटल, स्थिर, निश्चित।

ध्यान – एकाग्रता, मनोयोग, तल्लीनता, तन्मयता।

धाम – गृह, निकेतन, सदन, घर।

धंधा – रोजगार, व्यापार, कारोबार, व्यवसाय।

धनुर्धर – धन्वी, तीरंदाज, धनुषधारी, निषंगी।

धाक – रोब, दबदबा, धौंस।



नदी – सरिता, दरिया, अपगा, तटिनी, सलिला, स्रोतस्विनी, कल्लोलिनी, प्रवाहिणी।

नमक – लवण, लोन, रामरस, नोन।

नया – नवीन, नव्य, नूतन, आधुनिक, अभिनव, अर्वाचीन, नव, ताजा।

नायक – अभिनेता, सितारा, पात्र, कलाकार, अगुवा, प्रमुख पात्र।

नाश – (i) समाप्ति, अवसान (ii) विनाश, संहार, ध्वंस, नष्ट-भ्रष्ट।

नित्य – हमेशा, रोज, सनातन, सर्वदा, सदा, सदैव, चिरंतन, शाश्वत।

नियम – विधि, तरीका, विधान, ढंग, कानून, रीति।

नीलकमल – इंदीवर, नीलाम्बुज, नीलसरोज, उत्पल, असितकमल, कुवलय, सौगन्धित।

नौका – तरिणी, डोंगी, नाव, जलयान, नैया, तरी।

नारी – स्त्री, महिला, रमणी, वनिता, वामा, औरत।

निन्दा – अपयश, बदनामी, बुराई, बदगोई।

निमित – हेतु, उद्देश्य, ध्येय, प्रयोजन।

नरेश – नरेन्द्र, राजा, नरपति, भूपति, भूपाल।

निकम्मा – निठल्ला, अकर्मण्य, निखट्टू, बेकार।

निर्भय – निडर, दिलेर, निःशंक, बेधड़क।

निष्पक्ष – उदासीन, अलग, निरपेक्ष, तटस्थ।

नियति – भाग्य, प्रारब्ध, होनी।

निकट – समीप, करीब, आसन्न।

नवल – अद्भुत, विचित्र, विलक्षण, अनोखा।

नक्षत्र – तारा, सितारा, खद्योत, तारक।

नवीन – नव, नूतन, अभिनव, नवेला।

नाग – सर्प, विषधर, भुजंग, व्याल, फणी।

नग – भूधर, पहाड़, पर्वत, शैल, गिरि।

नरक – यमपुर, यमलोक, जहन्नुम, दौजख।

नम्र – शिष्ट, सुशील, विनीत, विनयशील।

निधि – कोष, खजाना, भण्डार।

नग्न – नंगा, दिगम्बर, निर्वस्त्र, अनावृत।

निधान – आश्रय, आधार, अवलम्ब।

नीरस – रसहीन, फीका, सूखा, स्वादहीन।

नीरव – मौन, चुप, शान्त, खामोश।

निरर्थक – बेमानी, बेकार, अर्थहीन, व्यर्थ

निष्ठा – आस्था, श्रद्धा, विश्वास।

निर्णय – निष्कर्ष, फैसला, परिणाम।

निष्ठुर – निर्दय, निर्मम, बेदर्द, बेरहम।

नेकी उपकार, भलाई, अच्छा, भला।



पत्ता – पर्ण, पल्लव, पत्र, पाती, पत्ती, दल।

पत्थर – पाहन, प्रस्तर, संग, अश्म, पाषाण।

पति – स्वामी, कान्त, भर्तार, बल्लभ, भर्ता, ईश।

पत्नी – दुलहिन, अर्धांगिनी, गृहिणी, त्रिया, दारा, जोरू, गृहलक्ष्मी, सहधर्मिणी, सहचरी।

पथिक – राही, बटाऊ, पंथी, मुसाफिर, बटोही।

पण्डित – विद्वान, सुधी, ज्ञानी, धीर, कोविद, प्राज्ञ।

परशुराम – भृगुसुत, जामदग्न्य, भार्गव, परशुधर, भृगुनन्दन, रेणुकातनय।

पर्वत – पहाड़, अचल, शैल, नग, भूधर, मेरू, महीधर, गिरि।

पवन – समीर, अनिल, मारुत, वात, पवमान, वायु, बयार।

पवित्र – पुनीत, पावन, शुद्ध, शुचि, साफ, स्वच्छ।

पान – ताम्बूल, पर्णलता, नागरबेल, नागवल्ली, सप्तशिला, नागिनीपत्र।

पार्वती – भवानी, अम्बिका, गौरी, अभया, गिरिजा, उमा, सती, शिवप्रिया।

पिता – जनक, बाप, तात, गुरु, फादर, वालिद।

पुत्र – तनय, आत्मज, सुत, लड़का, बेटा, औरस, पूत।

पुत्री – तनया, आत्मजा, सुवा, लड़की, बेटी, दुहिता।

पृथ्वी – वसुधा, वसुन्धरा, मेदिनी, मही, भू, भूमि, इला, उर्वी, जमीन, क्षिति, धरती, धात्री।

प्रकाश – चमक, ज्योति, द्युति, दीप्ति, तेज, आलोक।

प्रतिष्ठा – गौरव, महानता, इज्जत, सम्मान, आबरू, कीर्ति, यश।

प्रभात – सवेरा, सुबह, विहान, प्रातःकाल, भोर, ऊषाकाल।

प्रथा – प्रचलन, चलन, रीति, रिवाज, परम्परा, परिपाटी, रूढ़ि।

प्रबन्ध – इन्तजाम, व्यवस्था, बन्दोबस्त।

प्रलय – कयामत, विप्लव, कल्पान्त, गजब।

प्रसिद्ध – मशहूर, नामी, ख्यात, नामवर, विख्यात, प्रख्यात, यशस्वी।

प्रार्थना – विनय, विनती, निवेदन, अनुरोध, स्तुति, अभ्यर्थना, अर्चना, अनुनय।

प्रिया – प्रियतमा, प्रेयसी, सजनी, दिलरुबा, प्यारी।

प्रेम – प्रीति, स्नेह, दुलार, लाड़-प्यार, ममता, अनुराग, प्रणय।

पैर – पाँव, पाद, चरण, गोड़, पग, पद, पगु, टाँग।

प्रभा – छवि, दीप्ति, द्युति, आभा।

पाला – हिम, तुषार, नीहार, प्रालेय।

पंथ – राह, डगर, पथ, मार्ग।

परतन्त्र – पराधीन, परवश, पराश्रित।

पंकिल – गंदला, मैला, मलिन।

परिवार – कुल, घराना, कुटुम्ब, कुनबा।

परमार्थ – भलाई, उपकार, परोपकार।

परछाई – प्रतिच्छाया, साया, प्रतिबिम्ब, छाया।

परिचर सेवक, नौकर, भृत्य, चाकर।

पक्षी विहग, निहंग, खग, शकुन्त।

पल क्षण, लम्हा, दम।

पश्चाताप अनुताप, पछतावा, ग्लानि, संताप।

परिष्कृत परिमार्जित, प्रांजल, शुद्ध।

पताका झंडा, ध्वज, निशान।

प्रचुर पर्याप्त, बहुत, यथेष्ट।

पराक्रम पुरुषार्थ, ताकत, शक्ति।

परिवाद निंदा, बुराई, अपयश, बदनामी।

परिताप क्लेष, व्यथा, दुःख, पीड़ा।

परख छानबीन, परीक्षण, जाँच, पहचान।

परिणाम परिपाक, नतीजा, फल।

पराजित पराभूत, परास्त, विजित।

पाप पातक, गुनाह, अपकर्म।

पागल दीवाना, विक्षिप्त, उन्मत्त।

पाखण्ड आडम्बर, ढोंग, प्रपंच, स्वांग, ढकोसला।

पादपपेड़, वृक्ष, द्रुम, तरू।

पामर पापी, दुष्ट, दुरात्मा, पातकी।

पाश जालबंधन, फंदा, बंधन, जकड़न।।

पीड़ा दर्द, व्यथा, वेदना, यंत्रणा।

पुकार दुहाई, गुहार, फरियाद।

पुरातन प्राचीन, पूर्वकालीन, पुराना।

पुष्ट बलिष्ठ, हृष्ट-पुष्ट, तगड़ा।

पूजा आराधना, अर्चना, उपासना।

प्रकांड अतिशय, विपुल, अधिक, भारी।

प्रगल्भ अहंकारी, दम्भी, गर्वीला, अभिमानी।

प्रज्ञा बुद्धि, ज्ञान, मेधा, प्रतिभ।

प्रचण्ड भीषण, उग्र, भयंकर।

प्रणय स्नेह, अनुराग, प्रीति, अनुरक्ति।

प्रथित – विख्यात, प्रसिद्ध, प्रख्यात, नामवर।

प्रताप – प्रभाव, धाक, बोलबाला, इकबाल।

प्रतिहार – दरबान, चोबदार, द्वारपाल, द्वाररक्षक।

प्रतिहिंसा – प्रतिशोध, बदला, प्रतिकार।

प्रतिज्ञा – प्रण, वचन, वायदा।

प्रारब्ध – भाग्य, तकदीर, किस्मत, नसीब।

प्रस्तावना – प्राक्कथन, भूमिका, पुरोवचन, आमुख।

प्रेक्षागार – नाट्यशाला, रंगशाला, अभिनयशाला, प्रेक्षागृह।

प्रौढ – अधेड़, प्रबुद्ध।



फसाद – उत्पाद, दंगा, बलवा।

फल – मीजान,बीजकोश,पुष्पाण्ड,प्रभुभोज,सस्य,रसाबाद, फर,पुष्पज ।

फुनगी – कोंपल, मंजरी, अंकुर, किसलय।

फणी – सर्प, साँप, फणधर, नाग।

फौरन – तत्काल, तत्क्षण, तुरन्त।

फूल – सुमन, कुसुम, गुल, प्रसून, पुष्प, पुहुप।

फौज – सेना, लश्कर, पल्टन, वाहिनी, सैन्य।



बलराम – हलधर, बलवीर, रेवतीरमण, बलभद्र, हली, श्यामबन्धु।

बाग – उपवन, वाटिका, उद्यान, निकुंज, फुलवाड़ी।

बन्दर – कपि, वानर, मर्कट, शाखामृग, कीश।

बट्टा – घाटा, हानि, टोटा, नुकसान।

बलिदान – कुर्बानी, आत्मोत्सर्ग, जीवनदान।

बर्बर – असभ्य, जंगली, अशिष्ट, उद्धत।

बहेलिया – अहेरी, शिकारी, व्याध, लुब्धका।

बंजर – ऊसर, परती, अनुपजाऊ, अनुर्वर।

बराबरी – समान, सदृश, तुल्य।

बड़प्पन – बड़ाई, महत्त्व, महत्ता, गरिमा।

बिगाड़ – विकार, दोष, खराबी।

बगावत – विप्लव, विद्रोह, गदर।

बहादुर – वीर, सूरमा, शूर, जवाँमर्द।

बिछोह – वियोग, जुदाई, बिछोड़ा, विप्रलंभ।

बियावान – निर्जन, सूनसान, वीरान, उजाड़।

बेजोड़ – अनुपम, अद्वितीय, अतुल।

ब्रह्मा – विधि, चतुरानन, कमलासन, विधाता, विरंचि, पितामह, अज, प्रजापति, स्वयंभू।

बादल – मेघ, पयोधर, नीरद, वारिद, अम्बुद, बलाहक, जलधर, घन, जीमूत।

बाल – केश, अलक, कुन्तल, रोम, शिरोरूह, चिकुर।

बिजली – तड़ित, दामिनी, विद्युत, सौदामिनी, चंचला, बीजुरी।



भाँग – विजया, मॅग, शिवा, चपला, जया।

भाई – भ्राता, बन्धु, सहोदर।

भय – डर, त्रास, भीति, खौफ।

भगवान – परमेश्वर, परमात्मा, सर्वेश्वर, प्रभु, ईश्वर।

भगिनी – दीदी, जीजी, बहिन।

भंग – नाश, ध्वंस, क्षय, विनाश।

भारती – सरस्वती, ब्राह्मी, विद्या देवी, शारदा, वीणावादिनी।

भाव – आशय, अभिप्राय, तात्पर्य, अर्थ।

भाल – ललाट, मस्तक, माथा, कपाल।

भरोसा – सहारा, अवलम्ब, आश्रय, प्रश्रय।

भास्कर – चमकीला, आभामाय, दीप्तिमान, प्रकाशवान।

भुगतान – भरपाई, अदायगी, बेबाकी।

भोला – सीधा, सरल, निष्कपट, निश्छल।

भोजन – आहार, खाद्य सामग्री, खाना।

भुवन – जगत, संसार, विश्व, दुनिया।

भूखा – बुभुक्षित, क्षुधातुर, क्षुधालु, क्षुधात।

भंवरा – भ्रमर, मूंग, मधुकर, मधुप, अलि, द्विरेफ।

भाई – अग्रज, अनुज, सहोदर, तात, भइया, बन्धु।



मछली – मीन, मत्स्य, सफरी, झष, जलजीवन।

मजाक – दिल्लगी, उपहास, हँसी, मखौल, मसखरी, व्यंग्य, छींटाकशी।

मदिरा – शराब, हाला, आसव, मद्य, मधु, सुरा।

महादेव – शंकर, शंभु, शिव, पशुपति, चन्द्रशेखर, महेश्वर, भूतेश, आशुतोष, गिरीश।

मंगल – महीसुत, भौम, लोहितांग।

मक्खन – नवनीत, दधिसार, माखन, लौनी।

मट्ठा – माठा, छाछ, गोरस।

मंडन – अलंकरण, शृंगार, रूपसज्जा।

मंगनी – वाग्दान, फलदान, सगाई।

मत – धारणा, सम्मति, मंतव्य, विचार।

मनीषी – पण्डित, विचारक, ज्ञानी, विद्वान।

मतभेद – असहमति, मातवैध, असम्मति।

मुंह – मुख, आनन, बदन।

मित्र – सखा, दोस्त, सहचर, सुहृद।

मैना – सारिका, चित्रलोचना, कलहप्रिया।

मनोहर – मनहर, मनोरम, लुभावना, चित्ताकर्षक।

मंथन – बिलोना, विलोड़न, आलोड़ना।

महक – परिमल, वास, सुवास, खुशबू।

महत्ता – बड़ाई, गरिमा, महात्म्य, गौरव।

महल – राजभवन, राजप्रासाद, राजमहल, प्रासाद।

मृत्यु – देहावसान, देहान्त, पंचतत्वलीन, निधन।

महात्मा – महापुरुष, महामना, महानुभाव, महाशय।

मांझी – मल्लाह, नाविक, केवट।

मार्मिक – मर्मातक, मर्मस्पर्शी, हृदयस्पर्शी, मर्मभेदी।

माया – छल, छलना, प्रपंच, प्रतारणा।

माधुरी – माधुर्य, मिठास, मधुरता।

मानव – मनुज, मनुष्य, मानुष, इंसान।

मानक – प्रतिमान, आदर्श, मानदण्ड।

मुक्ति – निर्वाण, मोक्ष, परमपद, अमृतत्व।

मोती – सीपिज, मौक्तिक, मुक्ता, शशिप्रभा।

मेढक दादुर, दर्दुर, मण्डूक, वर्षाप्रिय, भेक।

मोर – मयूर, नीलकण्ठ, शिखी, केकी, कलापी।

मोक्ष – मुक्ति, निर्वाण, कैवल्य, परमधाम, परमपद, अपवर्ग, सद्गति।



सूर्यपुत्र, धर्मराज, श्राद्धदेव, कीनाश, शमन, दण्डधर, यमुनाभ्राता।

यत्न – प्रयत्न, चेष्टा, उद्यम।

यश – कीर्ति, ख्याति, प्रसिद्धि।

यामिनी – निशा, रजनी, राका, विभावरी।

युवती – तरुणी, प्रमदा, रमणी।

योग्य – कुशल, सक्षम, कार्यक्षम, काबिल।

यात्रा – भ्रमण, देशाटन, पर्यटन, सफर, घूमना।

याद – सुधि, स्मृति, ख्याल, स्मरण।



रक्त – खून, लहू, रुधिर, शोणित, लोहित, रोहित।

रत – निमग्न, लिप्त, अनुरक्त, तल्लीन।

राधा – ब्रजरानी, हरिप्रिया, राधिका, वृषभानुजा।

रानी – राज्ञी, महिषी, राजपत्नी।

रावण – लंकेश, दशानन, दशकंठ।

राज्यपाल – प्रान्तपति, सूबेदार, गवर्नर।

राय – मत, सलाह, सम्मति, मंत्रणा, परामर्श।

रोचक – मनोहर, लुभावना, दिलचस्प।

रूढ़ि – प्रथा, दस्तूर, रस्म।

रक्षा – बचाव, संरक्षण, हिफाजत, देखरेख।

रमा – कमला, इन्दिरा, लक्ष्मी, हरिप्रिया, समुद्रजा, चंचला, क्षीरोदतनया, पदमा, श्री, भार्गवी।

राजा – नरेन्द्र, नरेश, नृप, भूपाल, राव, भूप।

रामचन्द्र –रघुवर, रघुनाथ, सीतापति, कौशल्यानन्दन, अमिताभ, राघव, रघुराज, अवधेश।

रात – रैन, रजनी, निशा, विभावरी, यामिनी, तमी, तमस्विनी, शर्वरी, विभा, क्षपा, रात्रि।

रिपु – बैरी, दुश्मन, विपक्षी, विरोधी, प्रतिवादी, अमित्र, शत्रु।

रोना – विलाप, रोदन, रूदन, क्रंदन, विलपन।



लक्ष्मण – अनंत, लखन, सौमित्र।

लग्न – संयुक्त, संलग्न, सम्बद्ध, संयुक्त।

लज्जा – शर्म, हया, लाज, ब्रीडा।

लहर – लहरी, हिलोर, तरंग, उर्मि।

लालसा – तृष्णा, अभिलाषा, लिप्सा, लालच।

लुटेरा – डकैत, डाकू, बटमार, अपहर्ता।

लोलुप – लालची, लोभी, तृष्णालु।

लगातार – सतत, निरन्तर, अजस्र, अनवरत।

लड़ाई – झगड़ा, खटपट, अनबन, मनमुटाव, युद्ध, रण, संग्राम, जंग।

ता बेल, वल्लरी, लतिका, प्रतान, वीरुध।।



वर्षा – बरसात, मेह, बारिश, पावस, चौमास।

वृक्ष – सीना, छाती, वक्षस्थल, उदरस्थल।

वन – अरण्य, अटवी, कानन, विपिन।

वस्त्र – परिधान, पट, चीर, वसन, अम्बर।

वपु – देह, काया, तन, बदन।

वर्ग – श्रेणी, कोटि, समुदाय, सम्प्रदाय, समूह।

वर्ष – साल, बरस, वत्सर।

विकार – विकृति, दोष, बुराई, बिगाड़।

विध्वंस – ध्वंस, विनाश, नाश।

विपन्न – व्यथित, आर्त, पीड़ित, विपत्तिग्रस्त।

विष – गरल, माहुर, हलाहल, कालकूट।

विफल – व्यर्थ, बेकार, निरर्थक, निष्फल।

विभव – सम्पत्ति, धन, अर्थ, ऐश्वर्य।

विरुद – प्रशस्ति, कीर्ति, यशोगान, गुणगान।

विलक्षण – विचित्र, निराला, अद्भुत, अनूठा।

विस्मय – अचरज, आश्चर्य, हैरानी।

विविध – नाना, प्रकीर्ण, विभिन्न।

विभोर – मस्त, मुग्ध, मग्न, लीन।

विरक्ति – अनासक्ति, विराग, निर्लिप्तता।

विप्न – भूदेव, ब्राह्मण, महीसुर, पुरोहित।

विभा – प्रभा, आभा, कांति, शोभा।

विशारद – पण्डित, ज्ञानी, विशेषज्ञ, सुधी।

विलास – आनन्द, भोग, सन्तुष्टि, वासना।

व्यसन – लत, वान, टेक, आसक्ति।

वृक्ष – द्रुम, पादप, तरु, विटप।

वेश्या – गणिका, वारांगना, पतुरिया, रंडी।

विवेचन – व्याख्या, वर्णन, टीका।

वसन्त – मधुमास, ऋतुराज, माधव, कुसुमाकर, कामसखा, मधुऋतु।

विद्या – ज्ञान, शिक्षा, गुण, इल्म, सरस्वती।

विधि – शैली, तरीका, नियम, रीति, पद्धति, प्रणाली, चाल।

विमल – स्वच्छ, निर्मल, पवित्र, पावन, विशुद्ध।

विमान – वायुयान, खग, उड़नखटोला, हवाई जहाज।

विष्णु – नारायण, केशव, गोविन्द, माधय, जनार्दन, विशम्भर, मुकुन्द, लक्ष्मीपति, कमलापति।



शपथ – कसम, प्रतिज्ञा, सौगन्ध हलफ, सौं।

शहद – मधु, मकरंद, पुष्परस, पुष्पासव।

शब्द – ध्वनि नाद, आश्व, घोष, रव, मुखर।

शराब – हाला, अम्रता, मद्य, अमृता, वीरा, मदिरा।

शरीर – कलेवर, देह, गात, वपु, तन, भूतात्मा।

शरण – संश्रय, आश्रय, त्राण, रक्षा।

शिष्ट – शालीन, भद्र, संभ्रान्त, सौम्य।

शेर – नाहर, केहरि, वनराज, केशरी, मृगेन्द।

शस्य – फसल, पैदावार, उपज।

शिरा – नाड़ी, धमनी, नसा

शुभ – मंगल, कल्याणकारी, शुभकर।

शायद – कदाचित्, सम्भवतः, स्यात्।

शिक्षा – नसीहत, सीख, तालीम, प्रशिक्षण, उपदेश, शिक्षण ज्ञान।

शिविका – पालकी, डाँडी, डोली।

श्वेत – सफेद, सित, धवल।



सब – अखिल, सम्पूर्ण, सकल, सर्व, समस्त, समग्र, निखिल।

संकल्प – वृत, दृढ़ निश्चय, प्रतिज्ञा, प्रण।

संतृप्त – व्यथित, क्लेशित, वेदनाग्रस्त।

संग्रह – संकलन, संचय, जमाव।

संन्यासी – बैरागी, दंडी, विरत, परिव्राजक।

सजग – सतर्क, चौकस, चौकन्ना, सावधान।

संहार – अन्त, नाश, समाप्ति, ध्वंस।

सतीत्व – पतिव्रत्य, सतीधर्मिता, सतीपन।

सन्नद्ध – तापर, कटिबद्ध, तैयार, प्रस्तुत।

सभ्यता – शिष्टाचार, शिष्टता, भद्रता, शीलवत्ता।

समसामयिक – समकालिक, समकालीन, समवयस्क, वर्तमान।

सदन – गृह, घर, निकेतन, आवास।

समीक्षा – विवेचना, मीमांसा, आलोचना, निरूपण।

समुद्र नदीश, वारीश, रत्नाकर, उदधि, पारावार।

सखी सहेली, सहचरी, सैरंधी।

सज्जन भद्र, साधु, पुंगव, सभ्य, कुलीन।

स्तन पयोधर, छाती, कुच, उरस, उरोज।

स्मारक – भण्डार, कोष, कब्र, याद में/स्मृति में संग्रहालय, स्मृति, स्मरणोत्सव, ज्ञान कोष

सुन्दरी – ललिता, सुनेत्रा, सुनयना, विलासिनी, कामिनी।

सुबोध सुगम, सुस्पष्ट, सरल, बोधगम्य।

सूची – अनुक्रम, अनुक्रमणिका, तालिका, फेहरिस्त, सारिणी, सरणी।

स्वर्ण सुवर्ण, सोना, कनक, हिरण्य, हेम।

स्वर्ग – सुरलोक, द्युलोक, बैकुंठ, परलोक, दिव।

स्वामिकार्तिकेय – शिखिवाहन, महासेन, पार्वतीनन्दन, कार्तिकेय, महासेन।

स्वच्छन्द निरंकुश, स्वतन्त्र, निर्बंध।

स्वावलम्बन – आत्माश्रय, आत्मनिर्भरता, स्वाश्रय।

स्नेह प्रेम, प्रीति, अनुराग, प्यार, मोहब्बत, इश्क।

समुद्रसागर, रत्नाकर, पयोधि, नदीश, सिन्धु, जलधि, पारावार, वारीश, अर्णव, अब्धि।

सरस्वती – भारती, शारदा, वीणापाणि, गिरा, वाणी, महाश्वेता, श्री, भाष, वाक्, हंसवाहिनी, ज्ञानदायिनी।

सूर्य – दिनकर, दिवाकर, भास्कर, रवि, नारायण, सविता, कमलबन्धु, आदित्य, प्रभाकर, मार्तण्ड।

सम्पर्क – मिलन, भेट, मिलाप, संयोग, मुलाकात।

सम्पूर्ण – पूर्ण, समग्र, तारा, पूरा।

सद्भावसमन्वय, मेल-मिलाप, मेलजोल।

सर्प – भुजंग, अहि, विषधर, व्याल, फणी, उरग, साँप, नाग, अहि।

सुरपुर – सुलोक, स्वर्गलोक, हरिधाम, अमरपुर, देवराज्य, स्वर्ग।

सेठ – महाजन, सूदखोर, साहूकार, ब्याजजीवी, पूँजीपति, मालदार, धनवान, धनी, ताल्लुकदार।



हंस – मुक्तमुक, मराल, सरस्वतीवाहन।

हंगामा – हल्ला-गुल्ला, हलचल, शोर-गुल, मारपीट

हंसी – स्मिति, मुस्कान, हास्य।

दृढ़ – जिद, अड़, टेक, दुराग्रह।

हित – कल्याण, भलाई, भला, उपकार।

हरिण – मृग, हिरन, कुरंग, सारंग।

हक – कल्याण, भलाई, भला, उपकार।

हिमालय – हिमगिरि, हिमाद्रि, गिरिराज, शैलेन्द्र।

हनुमान – पवनसुत, महावीर, आंजनेय, कपीश, बज्रांगी, मारुतिनन्दन, बजरंग।

हाथ – कर, हस्त, पाणि, भुजा, बाहु, भुजाग्र।

हाथी – गज, कुंजर, वितुण्ड, मतंग, नाग, द्विर।

हार – (i) पराजय, पराभव, शिकस्त, माता (ii) माला, कंठहार, मोहनमाला, अंकमालिका।

हिम – तुषार, तुहिन, नीहार, बर्फ।

हिरन – मृग, हरिण, कुरंग, सारंग।

होशियार – समझदार, पटु, चतुर, बुद्धिमान, विवेकशील।


क्ष


क्षेत्र – प्रदेश, इलाका, भूभाग, भूखण्ड।

क्षणभंगुर – अस्थिर, अनित्य, नश्वर, क्षणिका।

क्षय – तपेदिक, यक्ष्मा, राजरोग।

क्षुब्ध – व्याकुल, विकल, उद्विग्न|

क्षमता – शक्ति, सामर्थ्य, बल, ताकत।

क्षीण – दुर्बल, कमजोर, बलहीन, कृश।

Administrator/व्यवस्थापक Post Code- 90 Group C Solved Paper

2 thoughts on “पर्यायवाची शब्द/Paryayvachi Shabd (Synonyms Words)”

Leave a Comment